Saali ko diya sex ka maza

0
6452

सबसे पहले मैं आपको अपना परिचय दे दूँ। मैं मुंबई का रहने वाला हूँ, मेरा नाम राज है, उम्र 38 साल है, मेरा कद 5′ 8″ है। मैं दिखने में कोई खास नहीं हूँ लेकिन सेक्स के मामले में मैं बहुत अनुभवी हूँ।

आज से करीब 12 साल पहले मैं और मेरा परिवार गाँव गया था। मेरा गाँव गुजरात में है। वहाँ पर मुझे एक लड़की से मुलाकात हुई जो रिश्ते में मेरी साली लगती थी। उसने मुझे अपने घर बुलाया और शाम के वक़्त मैं जब उसके घर गया तो उसके पिता ने बताया कि वो लड़की किसी के चक्कर में थी और मैं उसे समझाकर उसे उस चक्कर से दूर करूँ।

मैंने कहा- ठीक है, कल मैं लड़की से बात करूँगा।

दूसरे दिन जब मैंने लड़की से उस बारे में बात की तो लड़की ने कबूल किया। तब मैंने उसे बहुत समजाया कि यह गलत है और आजकल के लड़के सिर्फ मजा करने के लिए प्यार करते हैं।

उस दिन वो हमारे साथ ही रही। रात को मैंने और मेरी बीबी ने उसे फिर से समझाया पर वो नहीं मानी। मेरी बीबी तो परेशान हो कर सो गई। तब मैंने उसे मजा करने की बात फिर दोहराई और कहा- क्या तुझे पता है यह मजा कैसा होता है?

तब उसने ना कहा और मैंने अपना तीर चलाया- चलो, आज तुम्हें वो मजा मैं देता हूँ।



और वो तैयार हो गई।

जब उसकी तरफ से हाँ हुई तब मैंने उसको उसके नाईट-सूट के बटन खोलने के लिए कहा।

उसने झट से बटन खोल दिए तो उसके मस्त गोल गोल बोबे बाहर निकल आये।

उन्हें देखते ही मैं एकदम गर्म हो गया, मेरा 7″ लम्बा लंड खड़ा हो गया। मैंने उसके बोबे मसलना शुरु किया और मुँह में लेकर चूसने शुरु किये। तब वो एकदम गर्म हो गई।

कुछ देर बाद मैंने उसकी पैंटी में हाथ डाला तो उसकी चूत गीली हो चुकी थी, मैंने उसकी चूत में उंगली डाल दी तो वो जोर से चिल्लाई।

जब मैंने उसे सहलाया तो उसने मेरा लंड अपने हाथ में ले लिया और जोर से हिलाने लगी। हम दोनों एकदम से गर्म हो गए तब मैंने उसे अपने कपड़े निकालने को कहा। उसने झट से कपड़े निकाल दिए।

तब मैंने उसकी चूत चाटना शुरु किया और उसे अपना लण्ड चूसने को कहा। उस वक़्त वो एक बार झड़ गई और मुझे उसकी चूत का रस पीने को मिला। कुछ देर बाद मैं भी झड़ गया। मेरे लंड का सारा पानी उसके मुँह में छूट गया और वो उसे प्रेम से पी गई। मेरे लंड का पानी पीते ही उसे परम तृप्ति हुई।

फिर हमने दूसरा राउंड शुरु किया। मैंने उसकी दोनों टांगों को फैला दिया और उसकी चूत पर लंड रगड़ने लगा। जब वो एकदम से गर्म हो गई, तब मैंने मेरे लंड को उसकी चूत के ऊपर रख दिया। वो फड़फड़ाने लगी, उसकी चूत से फिर से गर्म पानी निकल गया, तब वो बोली- अब देर मत करो ! मेरी चूत को चोद दो ! डाल दो अपना बड़ा लंड मेरी चूत में और फ़ाड़ डालो मेरी चूत ! और मेरे परदे को ! करा दो मुझे जन्नत की सैर !

और इतना सुनते ही मेरे लंड में अजीब सी गर्मी उठी, मैंने एक ही झटके से मेरा 7″ लम्बा लंड उसकी चूत में डाल दिया। वो जोर से चिल्लाई तो मैंने उसके मुँह पर अपना हाथ रख दिया और उसे जोर जोर से चोदने लगा। वो जितना ज्यादा चिल्लाती मैं उतना ही ज्यादा अपना लंड उसकी चूत में डालता। उसकी चूत का पर्दा तो फट गया साथ में मेरे लंड की चमड़ी भी छिल गई। मैं उसे चोदता गया और वो चिल्लाने के साथ साथ मजा भी लेती गई।

करीब 20 मिनट चोदने के बाद मैंने मेरा सारा गर्म पानी उसकी चूत में छोड़ दिया।

कुछ देर बाद हमने तीसरे राउंड की तैयारी की लेकिन उसकी चिल्लाहट की वजह से शायद मेरी बीबी जाग चुकी थी। उसकी हलचल से हमने तीसरा राउंड रद्द कर दिया और अगले दिन दोपहर को चुदाई का कार्यक्रम तय किया। उस रात मैं उससे अलग होकर अपनी बीवी की बगल में गया और उसके बोबे दबाने लगा। कुछ देर बाद वो गर्म हो गई तो मैंने अपनी बीबी को भी चोदा और यह सब मेरी साली ने भी देखा पर मेरी बीबी को वो ख्याल नहीं आया कि मैंने और मेरी साली ने दो बार चुदाई की और अब मेरी साली ने हमारी चुदाई देखी।

यह सिलसिला चलता रहा। एक दिन यह सब मेरी बीबी को पता चल गया लेकिन वो कुछ बोली नहीं। शायद उसके दिमाग में कुछ और बात चल रही थी। वह क्या बात थी, जानने के लिए आपको थोड़ा सा इन्तज़ार करना पड़ेगा।