प्यासी भाभी की गांड की चुदाई

0
13739

हाई, मैं आतिफ (शान) फ्रॉम मुंबई, ऐज २४, स्टूडेंट एन एम्प्लोयेड, वाइट फेयरनेस, हाइट ५.१० फिट, लोविंग, कैरिंग, हॉट एंड सेक्सी. मैं एक नया लड़का हु इस सेक्स वेबसाइट पर और मैं आज अपनी पहली कहानी Pyasi bhabhi ki gaand chudai लिखने जा रहा हु. मैं करीब २ साल से इस साईट पर चुदाई स्टोरी पढ़ रहा हु और मेरी हर सुबह टॉयलेट पर सेक्स कहानिया पढ़ते हुए और मुठ मारते हुए शुरू होती है. ये कहानी कुछ एक मंथ पहले की है, जब हमारी बिल्डिंग में एक रेंट पर रहने के लिए, एक फॅमिली आई थी. वो तीन की फॅमिली थी. उनके नाम बता दू.. संजय भाई – ३४, पलक भाभी – ३१ और उनका एक सन था, जो १२ साल का था. पलक भाभी को फर्स्ट टाइम लाइफ में देखा था. शी वाज टू डेम सेक्सी. वो साड़ी में थी. उनकी साइज़ ३४-३०-३६ थी. देख कर लंड खड़ा हो गया था. क्या बताऊ उसको संभालना बहुत ही मुश्किल था. जल्दी से बाथरूम में जाकर मुठ मारकर खुद को शांत किया. कुछ दिन में, संजय भाई ने मेरी दोस्ती बढी और बाते होने लगी. वो मुझे काफी बार अपने घर भी लेकर गये.

Pyasi bhabhi ki gaand

मुझे अपना भाई जैसा मानने लगे. उनको मेरा नेचर बहुत पसंद आया था. मैं उनके घर जाकर बार – बार भाभी को घूरता और उनके बूब्स पर ध्यान रखता, कैसे उछलते है एंड हिलते है. मेरे तो देख कर ही होश उड़ जाते थे. कुछ १ वीक पहले संजय भाई को बाहर जाना था काम से ३ दिन के लिए. उन्होंने मुझसे कहा, कि भाभी को कुछ जरूरत होगी, तो तुम हेल्प कर देना. मैंने हाँ कर दी और चला गया. नेक्स्ट डे भाभी का कॉल आया और उन्होंने कहा – आतिफ, घर आना. मैंने गया, तो भाभी ने कहा, कि मेडिकल जाना है. कुछ दवा लेनी है. फिर हम मेडिकल गये और हमने दवाई ली. तभी एक लड़का बाजु से आया और कंडोम मांगने लगा. ये सुनकर मैंने शर्म से अपना सिर नहीं उठाया. उस टाइम भाभी मुझे देख रही थी. फिर हम घर लौट गये. घर पर आते ही, भाभी ने शरबत बनाया और सोफे पर बैठ कर टीवी देखने लगे. तभी उनका सन टूशन चला गया और अचानक भाभी ने सवाल किया – तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है? इ सेड – नो. आई डोंट हेव एनी गर्लफ्रेंड. वो शोक हो गयी और कहने लगी, इतने स्मार्ट लगते हो, पर्सनालिटी भी अच्छी है, फिर क्यों नहीं?

मैंने कहा – सब तो ठीक है. लेकिन अप्रोच करने में डर लगता है. लाइन मिलती है, लेकिन मुझे डर लगता है. फिर उन्होंने कहा – इसका मतलब, तुम अभी विर्जिन हो. मैंने कहा – हाँ भाभी. पोर्न देखता हु और एडल्ट स्टोरीज भी पढता हु. ये सब बातें करते वक्त हम हस रहे थे और मस्ती कर रहे थे. उनके बूब्स हिल रहे थे, उछल रहे थे. मैं नोटिस कर रहा था. उन्होंने मुझे देखा और देखते वक्त और कहने लगी, क्या देख रहे ही? मैं झेप गया और कहा – कुछ नहीं? वो बोली – क्यों झूठ बोल रहे हो? तू हमेशा ही, इनको घूरता रहता है. मैंने कितनी बार नोटिस किया है. मैंने झट से कह दिया, भाभी तुम मुझे बहुत पसंद हो और मैंने तुम्हारे साथ अपना पहला सेक्स करना चाहता हु. मुझे नहीं पता था, कि वो भी बहुत बेक़रार थी. इतना सुनते ही, उसने अपने होठो को मेरे होठो से चिपका दिया. ऊऊऊऊऊ.. क्या मस्त फीलिंग थी दोस्तों… आई कैन नॉट एक्सप्रेस.. यू आल कैन अंडरस्टैंड, कि फर्स्ट टाइम किस में क्या फीलिंग होती है! इट वज अवएसोम.. मैं उनके होठो को चूसते गया और अपनी टंग उनके मुह में डाल दी. हमारा जोश बड गया था.

जानवर की तरह एक दुसरे को होठो को काट रहे थे. फिर मैं उनके कपड़े उतारने लगा और सिर्फ ब्रा में छोड़ा. उनके बूब्स ब्रा के ऊपर से देख कर मेरे तो होश ही उड़ गये. ना रुकते हुए, मैंने उनकी ब्रा भी उतार दी. फिर मैं उनके बूब्स चूसने लगा और दबाने लगा. उनकी आवाज़े आ रही थी अह्हहहः अहहाह ऊओह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्.. दर्द होता है. स्लोवली दबाओ.. पर मैं कहाँ मानने वाला था. फर्स्ट टाइम था मेरा.. फिर मैंने उनसे कहा – भाभी मुह में लो ना.. आई वांट टू फील इट. उन्होंने मुझे बेडरूम में बुलाया और लेटा कर मेरी पेंट और अंडरवियर को उतार दिया अपने होठो को मेरे ८ इंच लम्बे लंड पर रखा. आई वाज टोटली आउट ऑफ़ कण्ट्रोल.. ऐसे फीलिंग थी, जो मुझे आज तक नहीं हुई थी. आई वाज आउट ऑफ़ दा वर्ल्ड. शी स्टार्टेड सकिंग एंड आई वाज लाइक, प्लीज सक इट मोर… मुझसे रहा नहीं गया और मैं खड़ा होकर वाल पर चिपक गया. फिर वो अपने घुटनों पर आ गयी और मेरे लंड को फिर से अपने मुह में लेकर सक करने लगी. उनके लिप्स जो मुझे अहसास दे रहे थे, लंड निकालने का मन नहीं कर रहा था. मैंने अपना पूरा लंड अन्दर डाल रखा था, जैसे पोर्न में चूत चुदाई करते है.

मैंने उनके मुह में ही चुदाई करनी शुरू कर दी. उनकी आँखों से आंसू आने लगे और मैंने अपना सारा स्पर्म उनके मुह पर छोड़ दिया. अब मैं शांत हो गया और वो मुझे उकसाने लगी, कि कौन चाटेगा मेरी चूत को? मैं १० मिनट बाद, फिर से जोश में आ गया. मैंने पहले उनकी चूत में हनी लगाया और चाटने लगा एंड फिर पोर्न विडियो की तरह “वी” पॉइंट पर चाटने लगा. वो तड़पने लगी थी, उछलने लगी थी.. मैं तो बस चाटता ही जा रहा था. वो अब कहने लगी थी, कि बस अब अन्दर डालो… डालो मेरी चूत में.. देदो सब कुछ.. स्वर्ग का अहसास. मैंने नहीं रुका और चाटते ही रहा. मैं उनके और भी तड़पा रहा था. जैसे ही वो अपने कण्ट्रोल से बाहर हुई, मैंने उसकी गांड को पलटाया और लंड चूत पर रख कर डाल दिया अन्दर. भाभी चिल्ला उठी.. आतिफ रुक.. मैंने कहा – अब मैं नहीं रुकने वाला. अभी अन्दर डालने को बोला था ना.. तो अब बर्दाश्त कर.. और एकदम डीप फकिंग चालू कर दिया. एक – एक शॉट लाजवाब था. अब उन्होंने मुझसे कहा, कि सच में.. तू कमाल है आतिफ. क्या मुह में लंड देता है. क्या चाटता है और क्या चोदता है. कोई भी लड़की या औरत तुझसे बार – बार चुदना चाहेगी.

बाकी को छोड़, पहले तुझे तो चोद लू. पूरी तरह से खुश कर दू. मैं उसे जबरदस्त चोदने लगा. बहुत पोजीशन ट्राई किये, ताकि पूरा लंड उसकी चूत में समां जाए. उसको मज़ा आने लगा और उसने मुझे धक्का देके लिटा दिया और मेरे ऊपर आकर खुद उछलने लगी. उछलते – उछलते इतना मस्त अहसास हो रहा था, कि मेरे लंड ने मेरा स्पर्म उसकी चूत में छोड़ दिया. मैंने उसे रोकना चाह, लेकिन वो रुकने को तैयार ही नहीं थी. कुछ देर में उसने भी अपना पानी मेरे लंड पर छोड़ दिया और वो शांत हो गयी. उसने मुझसे पूछा, फर्स्ट टाइम में इतना एक्सपीरियंस कैसे? मैंने कहा – पोर्न देख कर..फिर हम हग करते हुए लेटे रहे और फिर अपने कपड़े पहनने लगेगा, क्योंकि उनके सन के आने का टाइम हो गया था. वो मुझसे वापस चुदने के लिए तैयार थी और मैंने भी. फिर उनको कहा, कि मुझे तुम्हारी गांड भी मारनी है. भाभी ने कहा – अगली बार, जब भी वो बाहर जायेंगे, हम जरुर चुदाई करेंगे. तुम्हारी ही हु.. बस इतना सुनकर मैं वहां से चला गया.