Shadi ke baad chudai ka swaad – desi honeymoon sex story

0
13410

हेलो दोस्तों, कैसे है आप लोग? मेरा नाम अमित है और मैं एक वेबडिज़ाइनर हु और एक छोटी की मार्केटिंग एजेंसी में काम करता हु. जो लोग मार्केटिंग से रिलेटेड है. वो लोग जानते ही होंगे, कि एजेंसी में लोग पटाखा लडकियों को रखते है जॉब पर. ताकि वो क्लाइंट को रिझा सके और अच्छा बिज़नस ला सके.. मेरे कंपनी में भी लडकिया ऐसी ही थी, लेकिन मेरा वास्ता उन तक केवल काम करने तक ही था. उनमे एक लड़की थी मोना. पटाखा तो नहीं थी, लेकिन दिखने में अच्छी. नया – नया ऑफिस ज्वाइन किया था, तो बाकी लडकियों की तरह उसको हवा नहीं लगी थी. मुझे ना जाने क्यों, वो बहुत अच्छी लगी और मेरी उस से अच्छी दोस्ती भी हो गयी थी. हम दोनों ऑफिस के बाद साथ ही निकलते और अकसर वीकेंड पर मूवी चले जाते थे.इस बार वेलेंतिन पर मैं उसको प्रोपोज करने का प्लान बनाया था और ऑफिस के लोग तो ये ही समझने लगे थे, हम कपल है. वो थोड़ी शर्मीली थी, लेकिन मेरे साथ रह कर अब कुछ बिंदास होने लगी थी. उसके कपड़े पहनने का स्टाइल भी चेंज हो गया था और सेक्सी हो गयी थी. उसकी कम खूबसूरती की कसर मेकअप ने पूरी कर दी थी. मैंने वेलेतिन वाले दिन जल्दी पहुच कर सारी तैयार करी और उसके के एक गिफ्ट और अच्छा बुके ले आया. मैंने होटल में एक रूम भी बुक करवा लिया था. फिर वो आई और मैंने उसको पुरे ऑफिस के सामने प्रोपोज कर दिया. वो अचम्भित हो गयी, लेकिन उसने खुश होकर हाँ बोल दिया. हम खुश थे और इतने खुश थे, कि कुछ काम भी नहीं कर पा रहे थे. मैंने बॉस के पास गया और उसको छुट्टी के लिए पटाया और उसने छुट्टी दे भी दी.

मैं मोना को मूवी दिखाने ले गया और फिर उसके बाद उसने शौपिंग करी और शाम को मैंने उसको कहा – मेरा गिफ्ट? उसने कहा – मुझे मालूम है, कि तुमने रूम बुक करवाया है. तुम भूल गए हो, कि तुम्हारी ऑफिस वाली मेल आईडी मेरे फ़ोन में भी है और पहले तो मुझे समझ नहीं आया था, लेकिन आज सुबह सब कुछ समझ आ गया है और अब तुम्हारा गिफ्ट तुम्हे वहीं. मुझे लगा, कि बेटा आज तो किस्मत खुलने वाली है और हम होटल गये और चेक इन किया और डिनर से पहले मैंने वाइन आर्डर कर दी थी रूम के लिए. हम जैसे ही कमरे में घुसे उसने मुझे पकड़ लिया और मेरे कालर को खीच और एक जोर से थप्पड़ रसीद कर दिया और बोली – साले. वो तो मुझे पता था, कि तुम मुझे चाहते हो. लेकिन बोलने में इतना समय क्यों लगाया. पता है, मैं कितनी प्यासी हु. अगर आज नहीं कहते, तो किसी से भी अपनी सील तुडवा लेती.फिर उसने मुझे एकदम से बेड पर धक्का मार दिया और मेरे ऊपर चढ़ गयी. उसने मेरी शर्ट के बटन को खोल दिया और मेरी छाती को चूमने लगी. वो बेहताशा मुझे किस किये जा रही थी और मैंने भी अब उसके बालो को पकड़ कर उसके मुह को अपनी छाती में दबाना शुरू कर दिया. वो मस्ती में बेचैन थी और मुझे लगा था, कि ये जंगली बिल्ली आज की रात तो मुझे खा ही जायेगी. फिर मैंने उसको जोर से पकड़ कर अपने नीचे लिया और उसके चेहरे पर हर जगह चूमने लगा और फिर मैंने उसके होठो पर अपने होठो को रख दिया और उसको सक करने लगा. हम दोनों की साँसे बहुत तेज हो चुकी थी और हम दोनों के मुह ह्म्म्म ह्म्म्म ह्म्म्म हम्म्म्म ह्म्म्म करके आवाज़े निकल रही थी. मेरा लंड अब मेरी जीन्स को फाड़ कर बाहर आने को बेताब था और मैंने फिर एक ही बार में उसकी ड्रेस को उतार फेंका.

वो एक नेट वाली सेक्सी ब्रा और पेंटी में थी. बहुत ही गजब लग रही थी वो. मज़ा आ गया उसको देखकर. मैंने अपने आप को अपने कपड़ो से अलग किया और फिर उसके पास आया और उसने अंडरवियर के ऊपर से ही मेरे लंड को पकड़ लिया. वो मेरे लंड को मसल रही थी और सूंघ कर मज़ा ले रही थी. फिर उस ने एकदम से मेरे लंड को मेरे अंडरवियर से बाहर निकाल लिया और उसका जोर से मुठ मारने लगी. फिर उसने मेरे लंड को एकदम से अपने मुह में रख लिया. मैंने तो एकदम से सन्न रह गया. वो किसी प्रोफेशनल की तरह मेरे लंड से खेल रही थी. जब मैंने उसको पूछा, तो वो बोली – उसे ब्लू फिल्म देखने का शौक है और वो अपनी ऊँगली करके अपने आप को शांत करती है. मैंने कहा – चलो, कुछ ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी. फिर मैंने उसको उठाया और उसकी ब्रा और पेंटी को खोल दिया और उसको बेड पर धक्का मार कर लिटा दिया. उसके मस्त गोल चुचे देख कर तो मुझे मज़ा ही आ गया था.मैंने एकदम से उसके चूचो पर टूट पड़ा और उसके चूचो को मस्ती में दबाने लगा और उसके बूब्स को सीधा करके उसके निप्पल को अपने दातो के बीच में जकड लिया इर उनको खीच – खीच कर पीने लगा. क्या मज़ा आ रहा था. मैंने अपने एक हाथ को नीचे किया, तो पाया, मोना मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत पर घिस रही थी. वो बहुत जोर से मचल रही थी. मुझे लग गया था, कि वो ज्यादा देर नहीं रह पायेगी. तो मैंने उसी पोजीशन में अपने हाथ से लंड को सीधा करके उसकी चूत में सेट किया और एक जोर का धक्का मारा. बहुत मस्त टाइट थी उसकी चूत. मेरा लंड एकसाइड में फिसल गया. मैंने उठा और मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर लगा दी और वो सीसीसी सीसीसी सीसीसी सीसीसी सीसीसी करके सिस्त्कार उठी. मैंने ५ मिनट तक उसकी चूत को चाटा और फिर अपने हाथ पर थूक कर अपने लंड को चिकना किया.

फिर मैंने एक जोर धक्के के साथ अपने लंड को उसकी चूत में घुसा दिया. क्या मजेदार चूत थी. मैंने लंड एक झटके से साथ कुछ इंच तक गया. वो चिल्लाने लगी… और रोने लगी. मैंने नीचे देखा, तो पता चला. उसकी चूत से कुछ खून आ गया था. मैंने उसको बताना उचित नहीं समझा और एक और जोर का धक्का मारा और मेरा आधे से ज्यादा लंड उसकी चूत में था. वो मुझ से लंड को बाहर निकालने को बोल रही थी. पर मैंने नहीं सुना और एक और जोर के धक्के के साथ अपने लंड को उसकी चूत में उतार दिया.वो दर्द से रो रही थी. लेकिन मैंने अपनी गांड को जबरदस्ती करके उसको चोदना चालू रखा और कुछ देर में ही उसको भी मज़ा आना लगा और उसने मुझे कस कर पकड़ लिया और अपनी गांड को बहुत तेजी से हिलाने लगी. मुझे लगा, कि वो अपनी जिन्दगी में पहली बार झड़ने वाली है और फिर वो एकदम से शांत हो गयी. वो झड चुकी थी और फिर मैंने भी जल्दी से धक्के लगा कर अपने लंड का माल उसकी चूत में डाल दिया. वो अब भी रो रही थी. मैंने उसको चूमा और फिर हम दोनों नंगे ऐसे ही पड़े रहे. मैंने उसको पूरी रात चोदा और जब सब उसको घर छोड़ा, तो वो चलने लायक भी नहीं थी. उसने २ दिन की छुट्टी ली और उसके बाद हम दोनों को जब भी मौका मिलता है. हम चुदाई का मज़ा लेते है.