पहली प्रेमिका को रंडी बना दिया

पहली प्रेमिका को रंडी बना दिया

हाय दोस्तों मेरा नाम संजय है में एक एम.एन.सी कम्पनी मे काम करता हूँ रोज सुबह ऑफीस निकल जाता हूँ और फिर रात मे अपने फ्लेट पर आता हूँ मेरा फ्लेट मेयर विहार मे है इसी साल जॉब लगी है लेकिन आज भी कॉलेज के दिन बहुत याद आते है उन्ही दिनो की बात है में बी.कॉम का स्टूडेंट था ओर जयपुर से बिलोंग करता हूँ. जयपुर मे कॉस्टिंग की कोचिंग के लिए देवराज सर के पास पढ़ने जाता था वहा पर ही में शिखा से मिला वो भी बी.कॉम कर रही थी. पहले कुछ टाइम तो बात नही हुई जस्ट एक दूसरे को देखते ओर स्माइल पास करते पर कुछ टाइम बाद बात करना स्टार्ट कर दी नॉर्मल बाते करते थे लेकिन कुछ टाइम बाद परीक्षा आ गई ओर बात करना कुछ ओर ज्यादा हो गया क्योकी परीक्षा टाइम मे पढाई से रिलेटेड बात बड़ जाती है.फिर रियलाइज़ हुआ की में उस

रंडी

से प्यार करने लगा हूँ और 18 जनवरी 2008 को मैने उसे प्यार का इजहार किया लेकिन उसने मना कर दिया वो बोली की संजय अभी इन सब बातो का टाइम नही है.

अभी पढाई पर ध्यान दो में भी समझ गया ओर सब भूल गया कुछ दिन बाद मेरा दोस्त दीपक जो मेरे साथ ही कोचिंग पर जाता था उसने बताया की शिखा उसकी गर्लफ्रेंड बन चुकी है मैने यकीन नही किया लेकिन जब उसने मेरे सामने शिखा से बात की तो मुझे यकीन हो गया मैने दीपक को समझाया की वो शरिफ लड़को का इस्तमाल करती है पर दीपक ओर मेरे बीच मे ही लड़ाई हो गई टाइम निकलता गया 3rd ईयर आ गया दीपक मेरे पास आया बोला यार तूने सही बोला था वो अब बोल रही है की वो मेरे साथ नही रहना चाहती.
मेंने दीपक से पूछा की तूने कभी उसके साथ सेक्स किया था दीपक ने साफ मना कर दिया और बोला वो इस टाइप की लड़की नही थी यार में हंसने लगा मैने कहा शिखा अपना काम निकालना जानती है बस हम दोनो को उस पर बहुत गुस्सा आ रहा था लेकिन हम दोनो कर भी क्या सकते थे फिर मैने एक प्लान सोचा मैने अजय को फोन किया जो की मेरा बहुत पुराना दोस्त था ओर जयपुर मे उसका किराये पर अपार्टमेंट भी था जिसमे वो अकेला किराये पर रहता था.
मैने अजय को बोला की तू शिखा के साथ दोस्ती कर ओर हमारी कोचिंग जॉइन कर ले अजय ने कोचिंग जॉइन की ओर शिखा से दोस्ती की ओर मुझे याद है अक्टूबर मे वो दोनो बहुत अच्छे दोस्त बन चुके थे 16 अक्टूबर को मैने अजय को बोला की तू कुछ भी कर लेकिन शिखा को अपने फ्लेट पर लेकर आ में ओर दीपक उसको नही छोड़ेगे उसने भी वही किया 18 अक्टूबर को दिन का टाइम था वो शिखा को अपने फ्लेट पर लाया फ्लेट मे में ओर दीपक बेडरूम मे थे वो हॉल मे बाते कर रहे थे अजय शिखा को बेडरूम मे लेकर आया शिखा हम दोनो को देख कर बहुत डर गई ओर रोने लगी दीपक को बोलने लगी सॉरी मुझे माफ़ कर दो मेरे से ग़लती हो गई दीपक ने उसे चाटा मार दिया मैने बोला तू हमारा इस्तमाल कर रही थी हम तुझे इतने बड़े पागल लगते है वो रोने लग गई दीपक ने रूम का गेट लॉक कर दिया वो ओर ज़ोर से रोने लग गई.

मैने उसे ज़मीन से उठा कर बेड पर लेटा दिया वो सॉरी सॉरी बोलने लगी दीपक उसकी टी-शर्ट उतार रहा था में उसके बूब्स को दबा रहा था वो बोलने लगी मुझे छोड़ दो. अजय कन्डोम लेकर आया हम तीनो ने अपने कपड़े उतारे उसकी जीन्स में उतार रहा था पर उतर ही नही रही थी दीपक ने उसके दोनो पैर पकड़े फिर मैने उसकी जीन्स उतार दी वो अब चुप हो गई थी बोलने लगी एक एक करके चोदना प्लीज मैने आज तक किसी से नही चुदवाया है यह सुन कर हम हंसने लगे मैने उसकी टांगे खोली चूत बिल्कुल साफ दिख रही थी में अपने हाथो को उस पर रगड़ रहा था वो उतना ही ज़ोर से चिल्ला रही थी ऐसा मत करो मेरे साथ में रंडी बन जाउंगी.

मेंने एक उँगली उसकी चूत मे डाली वो उचकने लगी और बोली संजय प्लीज मत कर निकाल इसे प्लीज में ओर ज़ोर से करने लग गया वो बोली कुत्ते क्यों कर रहा है मेंने दूसरी उँगली भी उसकी चूत मे डाल दी वो चिल्ला उठी ऐसा मत कर ना हाहहह मुझे क्यों चोद रहे हो तुम लोग आआआआ में बोलने लगा हाँ तूने काम ही ऐसे किये है तो अब तुझे रंडी तो बनना पड़ेगा ओर जोर से अपना लंड उसकी चूत मे डाल दिया वो चिल्ला उठी आआआ अयाया आआआ मादरचोद मत कर निकाल इसे कुत्ते आआआ निकाल इसे मैने ओर जोर से पूरा लंड डाल दिया वो पागल हो गई. आ आआआ अयाया अयाया मत कर मर जाउंगी में आआआाह पर जैसे ही उसकी चूत से खून निकला दीपक ने बोला.. मत कर छोड़ यार दर्द हो रहा है इसे. मैने भी अपना लंड निकाल दिया वो चूत को देखने लगी.

मुझसे रहा नही गया मैने फिर से उसके बूब्स पकड़े ओर लंड डाल दिया ओर ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा पहले तो वो चिल्लाई लेकिन फिर उसने चिल्लाना छोड़ दिया उसे पता लग गया था की में चिल्लाती हूँ तो यह ओर ज़ोर से करता है फिर दीपक से नही रहा गया उसने अपना लंड उसके मुँह मे दे दिया वो पहले तो ले नही रही थी पर जैसे ही ज़ोर से निपल दबाये तो उसने अपना मुँह खोल दिया ओर उसके मुँह से एक ही आवाज़ आ रही थी इसस्सस्स इससस्स मत करो इसस्सस्स आआहा इसस्साआह में मर जाउंगी उसके बाद दीपक उसे चोदने लगा लेकिन अब वो कुछ बोल ही नही रही थी ना कोई आवाज़ निकाल रही थी दीपक को गुस्सा आ गया वो बोल रहा था चिल्ला कुत्तिया तुझे चोद रहा हूँ. में लेकिन वो कुछ नही बोल रही थी फिर दीपक ने अपना लंड निकाला उसे उल्टा किया ओर उसकी गांड पर अपना लंड रखा वो चिल्ला उठी. नही दीपक मत कर प्लीज तुझे चूत मारनी है मार ले गांड मत मार प्लीज दीपक ने एक ज़ोर से धक्का दिया वो बहुत ज़ोर से चिल्लाई ओर दीपक का लंड उसकी गांड मे चला गया.

मुझे याद है उसे उस टाइम खून निकला था बहुत सारा वो रोने लगी सालो तुमने तो मुझे आज रांड़ बना दिया आआआः इसस्स्स्स आह दीपक ने मुझे बोला तू इसकी चूत मार में गांड मारूंगा वो बोली मार लो जितना मार सकते हो जितना तुम लोगो मे दम है मार लो मेंरी मैने उसे सीधा किया ओर चूत मे लंड डाल दिया ओर दीपक उसकी गांड मार रहा था ओर वो भी अब मज़े ले रही थी ओर बोलने लगी ओर जोर से चोदो मुझे रंडी बना दो मुझे कुत्तो आआआहह फिर हम दोनो झड़ गये वो भी अधमरी हो गई लेकिन शायद उसको गुस्सा आ रहा था तो उसने अजय को बोल दिया चूतिये तू नही चोदेगा क्या इस पर अजय को गुस्सा आ गया उसने उस रंडी की दोनो टाँगे पकड़ी ओर ज़ोर से खोली अपना लंड उसकी चूत पर रखा ओर ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा.

उसकी आँखों से आंसू बंद ही नही हो रहे थे वो बोलने लगी बस इतना ही दम है अह्ह्ह्हह्ह क्या तेरे में इसस्स हाआआाह्ह्ह दीपक को पता नही क्या हुआ उसने अजय को बोला तू इसका मुँह चोद में अब दिखाता हूँ कितना दम है हम मे. फिर दीपक ने बड़े बड़े डॉट वाला कंडोम निकला. में तो डर ही गया ये क्या कर रहा है अजय उसके मुँह को चोद रहा था इसलिये वो कुछ बोल नही पा रही थी. दीपक ने कन्डोम लगा लिया ओर एक झटके से उसकी चूत में अपना लंड दाल दिया. जैसे ही लंड चूत में गया मैने देखा था वो कैसे उछली थी ओर इतना जोर से चिल्लाई आआअहह की अजय ने अपना लंड उसके मुँह से निकाल दिया और दीपक चोदने लगा. शिखा का मुँह पूरा लाल हो चुका था. वो पागल हो गई थी पर दीपक उसे बहुत टाइट पकड़ कर चोद रहा था फिर वो बेहोश हो गई हम लोगो ने अपने कपड़े पहन लिए थोड़ी देर बाद जब वो उठी तो वो बाथरूम मे बाल्टी मे पानी ले कर अपनी चूत पर लगा रही थी फिर वो बोली मुझे मज़ा तो आया लेकिन तुम लोगो ने मुझे रंडी बना दिया फिर पूरी रात हम उसे चोदते रहे लेकिन आज भी कुछ गम है शायद वो ऐसा नही करती तो आज किसी एक की होती ओर रंडी नही बनती उस दिन में भी थोड़ा तो रोया ही था की मैने अपने पहले प्यार को ही रंडी बना दिया. दोस्तों मुझे आशा है की आपको मेरी यह स्टोरी जरुर पसंद आयेगी.

About The Author

Related posts

Leave a Reply