कैसे बनी मेरी माँ लंडखोर

0
32090

हैलो दोस्तो और मेरे प्यारे चाहने वालो को मेरा प्रणाम. में इस पर पहली बार अपनी कहानी भेजने जा रहा हूँ. यह एक दम सच्ची कहानी है. जिसको पड़ कर आप तुरंत मुठ मार लेंगे बल्कि मारने की ज़रूरत ही नही पड़ेगी अपने आप ही आप का काम हो जायेगा और बहनो भाभी और माताओ का पानी भी छूट जायेगा. मेरा नाम निक्कू है मेरी उम्र 22 साल की है. में कानपुर का रहने वाला हूँ. यह स्टोरी मेरी माँ जिनका नाम नर्मदा है. जो मुझे बहुत बाद में पता चला की वो बहुत बड़ी लंडखोर है. अगर आपको स्टोरी पसंद आए तो मुझे ज़रूर बताये.हमारे घर में तीन लोग रहते है में(निक्कू), माँ(नर्मदा) और पापा(राजू). पापा को कमर की बीमारी है इसलिए उनको सेक्स करने में प्रोब्लम होती है. मेरी मम्मी का फिगर एक दम सेक्सी है. 38-28-38 हाथ ऐसे है की गोरे गोरे मुलायम अंगूर की तरह कोई छू ले तो लंड खड़ा हो जाये. में तो मम्मी को रोज़ नहाते हुए देखता हूँ. और मूठ भी मारता हूँ. पापा बस चूत चाट कर मज़ा ले लेते है. यह कहानी दो साल पुरानी है और सच्ची है.
एक बार में मम्मी के साथ बस स्टॉप पर बस का वेट कर रहा था. तभी मम्मी के एक दोस्त जिनका नाम विनोद था. वो अपनी कार से जा रहे थे. उन्होने मम्मी को देखा और हमे लिफ्ट देने के लिए कहा मम्मी ने साडी पहनी हुई थी. जिसमे वो काम वासना की हीरोईन लग रही थी. में आगे और मम्मी पीछे बैठ गये थे. वो लोग कॉलेज टाइम के दोस्त थे. और बैठे बाते करने लगे उस समय की बाते फिर एक हफ्ते तक ऐसा ही चलता रहा और अचानक एक दिन अंकल घर पर आ गये. और मम्मी कही गयी हुई थी. मेने अंकल को बैठने को कहा तो वो इंतजार करने लगे. आधे घंटे बाद मम्मी आ गयी.



और में अपने कमरे में पड़ाई करने के लिए चला गया. जब में दस मिनट बाद आया तो वो लोग चाय पी रहे थे. और बातें कर रहे थे की कॉलेज में कैसे अंकल ने और उनके तीन दोस्तो ने मम्मी की बुरी तरह से चुदाई करते थे. और जब वो अकाउंट्स में फैल होने वाली थी तो कैसे लेक्चरार से दिन रात चुदाई कराती थी. पास होने के लिए और एक बार जब उनके भाई ने उन्हे घर के कमरे में चुदाई करते हुए पकड़ लिया था. ओर उसने भी मम्मी को खूब चोदा था. यह सारी बातें सुनकर में हेरान हो गया और मूठ मरने लगा. फिर वो लोग उठे और अंकल ने मम्मी को एक सेल नंबर दिया और कल कह कर चले गये. में कल के बारे में सोचने लगा फिर अगले दिन पापा काम पर चले गये. और में कोचिंग के बहाने जाकर घर की गेलेरी में जाकर बैठ गया. जो की मम्मी के रूम के बाहर है की वो कोई आता जाता है या नही सर्दियों का दिन था. अंधेरा 6 बजे ही हो गया पापा 10 बजे तक आते है. और में मम्मी से बोल कर गया था की में कोचिग के बाद फिल्म देखने दोस्त के साथ जाऊंगा. जैसे ही 5 बजे मम्मी ने कॉल किया और 15 मिनट में तीन लोग घर पर आ गये जिसमे से एक वो ही अंकल थे. वो लोग शराब भी साथ में लेकर आये थे.



वो लोग जल्दी से माँ के रूम में गये और माँ के कपड़े उतरने चालू कर दिया वो तीनो भी नंगे हो गये थे. और एक ने माँ के मुहं में अपना 6 इंच का लंड डाल दिया. एक माँ से मुठ मरवा रहा था. और एक माँ की चूत चोद रहा था. यह देखकर में भी मुठ मार रहा था. में यह सब खिड़की में से देख रहा था. और अपने मोबाइल में सेव भी कर रहा था.
इतने में एक ने माँ के चूत में अपना 8 इंच का लंड डाल दिया. और खूब तेजी से चोदने लगा उन तीनो के लंड बहुत बड़े थे. सब के लंबे चौड़े थे. और एक माँ की गांड मारने लगा दोनो चीजे एक साथ चोद रहे थे. तीसरा माँ का मुहं ज़ोर ज़ोर से चोद रहा था. उनकी अवाजे रूम से बाहर जा रही थी. और माँ भी सिसकिय भर रही थी. लेकिन 5 मिनट बाद गांड उठा उठा कर उन तीनो का साथ देने लगी.वो तीनो लोग एक बार झड़ चुके थे. पर माँ अभी तक नही झड़ी थी. अब एक माँ के बूब्स चूस रहा था और दूसरा माँ की चूत चोद रहा था. और तीसरा माँ की पूरी बॉडी चाट रहा था. एक व्यक्ति तो माँ की चूत में इतनी तेज़ उंगली कर रहा था की माँ का पेशाब निकल गया बेड पर ही.



फिर वो तीनो दोबारा चुदाई पर लग गये थे. में तो दो बार झड़ चुका था. पर चुदाई इतनी ज़बरदस्त चल रही थी की मेरा लंड खड़ा था. फिर माँ को दो लोगो ने गोद में उठा लिया और उनकी चूत पर ज़ोर ज़ोर से धक्के मार रहे थे. बाल खीँच खीँच के पता नही क्या ख़ा कर आए थे. यह सब कुछ दो घंटे तक चला फिर वो लोग तीनो शराब पीकर चले गये. माँ भी बहुत खुश थी आज इतनी ख़तरनाक चुदाई करवा कर और हाँ फिर शराब के बाद उन तीनो ने बाथरूम में माँ को चोदा फिर साथ में नहाकर चले गये. मेने यह सब सवे कर लिया था मोबाइल में मेने अब मन ही मन माँ को चोदने का प्रोग्राम बना लिया था.
कल शायद वो लोग नही आने वाले थे. मेने अपने एक दोस्त को भी घर पर बुला लिया था. और उसे सब कुछ दिखा दिया वो भी बहुत खुश हुआ और उसने हाँ कर दी में भी राजी था. माँ नहाने चली गई और मेंने वो विडियो उसके मोबाइल पर भेज दिया और में आधे घंटे के लिए घर से बाहर चला गया माँ को पता था में घर नही हूँ सिर्फ विकास ही है. मेरे रूम में पीसी यूज़ कर रहा है. माँ नहाकर किचन में चली गई और विकास अपना सेल लेकर किचन में चला गया और पीछे से जाकर माँ की नाज़ुक गांड पर हाथ फेरने लगा और माँ ने उसका हाथ झटक कर दूर कर दिया और उसको डाटने लगी.फिर विकास ने माँ को वो विडियो दिखाए जिसे देख कर वो हेरान रह गई और डर गई वो बोली निक्कू अभी आ जायेगा पहले तूम इसे बंद कर दो प्लीज फिर विकास बोला की वो दो घंटे के बाद आएगा और उसने माँ के बूब्स पकड़ लिए और उन्हे बाहर निकाल कर चूसने लगा. और उसने अपना लंड निकाल कर माँ के हाथ में दे दिया. और माँ उसका लंड चूसने लगी फिर वो उन्हे उठाकर कर उनके रूम में ले गया में उस समय बालकनी में था. और यह सब देख रहा था और विकास को पता था की में कहाँ हूँ.
फिर उसने मेरे बारे में माँ से पूछा की अगर निक्कू को पता चल गया कि आपने अपने तीन दोस्तों के साथ सेक्स किया है तो वो बोली सही बात तो ये है की वो अपने बाप की औलाद नही है. अपने ताऊ जी की औलाद है. ये सुनकर में दंग रह गया और जल्दी से रूम के अंदर आ गया तभी जब विकास माँ को चोद रहा था. माँ मुझे देख कर बोली की विकास मेरे साथ ज़बरदस्ती कर रहा था. तब में बोला के लंडखोर औरत तू कल अपने तीन यारो से मेरे सामने खूब दबा कर चुदाई करा रही थी. अब तुझे यह विकास ज़बरदस्ती कर रहा है. फिर वो चुप हो गई और बोली की अपने पापा को मत बताना प्लीज में भी क्या करती वो सेक्स नही कर सकते इसलिए मे भी मजबूर थी.



तभी में बेड पर जाकर बैठ गया ओर माँ की जांग पर हाथ फेरने लगा वो चोंक गई और नंगी खड़ी हो गई बोली यह ग़लत है तभी मेंने कहा जो ये सब हो रहा था वो सही है और या ग़लत.

फिर हम दोनो ने उन्हे उठाया और बेड पर फैक दिया उनके मोटे बूब्स और गांड देख कर मेरा लंड पूरा 8 इंच का हो गया था. तभी वो बोली बेटा तेरा इतना लंबा और मोटा कैसे मेने कहा में पहले भी कई बार सेक्स कर चुका हूँ. फिर वो हंसने लगी और बोली आज से में सिर्फ़ तुमसे ही चुदाई कराउंगी और विकास से बस मुझे क्या पता था की मेरे ही घर में एक शेर है. फिर हम दोनो ने माँ को करीब पांच घंटे तक चोदा जिसमे माँ चार बार झड़ चुकी थी और हम पांच बार झड़ चुके थे.

फिर मेने माँ से उनकी चुदाई की कहानी पूछी की कैसे आप किस किस से चुदी और फिर से माँ बोली की में बताती हूँ कि में अपने भाई राज से और उसके तीन दोस्तो से फिर अपने कॉलेज के लेक्चरार से तुम्हारे ताऊ जी से अपने कॉलेज के नो दोस्तो से तुम्हारे पापा के बॉस से तुम्हारे क्लास टीचर से जब तुम क्लास में फैल हो गये थे. तो अब पता चला की में पास कैसे हुआ था. कैलाश अंकल से तुम्हारे दोस्त विक्की से उसने शायद तुम्हे बताया नही होगा वो बहुत हरामी है वो जब तुम कोचिग जाते थे तो वो बंक मार कर यहा मुझे चोदता था. और डिस्क वाले अंकल राजेश से वो तो वीक में दो बार चुदाई कर देते है. यह मेरी सच्ची कहानी है जिसे की सुनकर में दंग रह गया लेकिन अब मजे भी बहुत आते है. अब तो में रोज़ ही चुदाई करता हूँ और मेरे दोस्त भी खूब मज़े मारते है माँ के साथ अब तो माँ के बूब्स 42 के हो गये है ब्रा भी टाइट आती है.