प्यासी पिंकी मेडम ने गांड मरवाई

0
14215

मैं दीप जोहल चंडीगढ़ से. में तब कोलेज में फेशन डिजाइनिंग करता था. हमारे डिपार्टमेंट में एक टीचर हे जो मुझे हमेशा से ही बड़ी लगती क्यूट लगती थी. ड्यूरिंग माय सेकंड इयर उसने हमारा कॉलेज जॉइन किया एज ए टीचर. उसकी एज कुछ ३० साल के एराउंड होगी. जब उसे फस्ट टाइम देखा तो उसके बड़े बड़े बूब्स देख कर में तो उसको चोदने के सपने देखने लगा. जो की मुझे पता था की कभी सच नहीं होने वाला. बट धे बिकम ट्रू लास्ट सेम कॉलेज फ़ास्ट के अराउंड का टाइम था. वो टीचर एक टीम हेड कर रही थी जिसका पार्ट में भी था बीइंग इन फ़ाइनल इयर. मुझे भी उस टीम का हेड बनाया गया था सिनियोरिटी के हिसाब से. सो ऑलमोस्ट हर रोज़ उनसे मिलना हो ही जाता था. उस टीचर का नाम पिंकी

मेडम ने गांड मरवाई

था. और उनकी फिगर होगी कुछ ३८-३०-३६. साथ काम करने की वजह से हम दोस्त टाइप बन गए थे.

एक दिन मुझे मेम का कॉल आया की कुछ अर्जंट काम हे ने में उनके ऑफिस में आ जाऊ. में चला गया, उनको कुछ कॉल्स वगेरा करवाने थे ने इसमें काफी टाइम निकल गया. ने शाम के ७ बज गए. ऑलमोस्ट सारे टीचर्स जा चुके थे. और डिपार्टमेंट बिलकुल विराना सा था. काम के बाद में मेम से जनरल बाते करने लगा. रेगार्डिंग हेर हसबंड ने आल. बाते करते करते ऑलमोस्ट ८ बज गए. ने मेम को उनके हसबंड का कॉल आ गया मेम ने एक दम से जल्दी मचा दी ने जल्दी जल्दी में उनके सूट एक कही फस गया ने फट गया. मेम की ब्लाक कालर की ब्रा आगे से दिखने लगी. मेरा तो खड़ा हो गया बट मेने मेम को अपना जेकेट दिया ने कहा सॉरी मेम ने वहा से चला गया.

अगले दिन छुट्टी के बाद में कॉलेज आया हुआ था तो मेम ने फस्ट मुझे फोन करके बुलाया की वो ऑफिस में हे ने उन्हें कुछ काम हे. मेरा पिछले एक्सिडनंट के बारे में सोच कर खड़ा हो गया. में उनके रूम में गया ने उन्होंने कुछ काम बोला मुझे. लें में जाने लगा तो उन्होंने रोक लिया ने कहा ये जेकेट ले जाओ ने थैंक्स फॉर यस्टरडे. मैंने कहा इट वाज़ माय प्लेज़र, नो प्रॉब्लम मेम. फिर उसने कहा की प्लीज् किसी को बताना मत. तो मेने भी कहा की नहीं बताऊंगा. उन्होंने मेरे हाथ पर हाथ रख ने कहा “मुझे बहोत अच्छा लगा था. वाय यु रेअक्टेद” मेने स्माइल कर दिया.

पिंकी: बट एक चीज़ तो तुम भी नि कण्ट्रोल कर सके.

में: क्या?

पिंकी: तुम्हारा वो कुछ ज्यादा ही खुस हो गया था. और इतना कह के उसने विंक कर दिया.

में: न..नह…नही…नही मेम.

पिंकी: अरे डोंट बी अफ्रेड.

मैं अभी भी चेयर पर ही था और वो खड़ी हो के मेरी तरफ बढ़ गई. मेरा दिल बहुत जोर जोर से धडक रहा था.

पिंकी: सच सच बताओ.

में: मेम एसा कुछ नहीं हे. सोरी अगर आपको एसा लगा तो

वो एकदम से मेरे पास आई और उसने अपना हाथ मेरे लंड के ऊपर रख दिया.

पिंकी: जूठे कहीं के, अभी भी खड़ा हे देखो.

में: मेम अब आप हो ही इतनी सुन्दर.

पिंकी: अच्छा जी.

और वो बिना किसी शर्म किये मेरी गोद में आ बैठी.

पिंकी: एसा क्या अच्छा हे मुझ में?

में: सब कुछ मेम, उपर निचे लेकर सब कुछ.

आई किस हेर फोरहेड आपकी सुन्दर सुन्दर आँखें. धेन हेर चीक्स क्यूट से गाल. धेन हेर नोज. शरारती सा नोज ने धेन हेर लिप्स…. धेट सूक हेर लिप्स. उनके मुह में अपनी जबान डाल कर. ने धेन सी स्टार्ट फाइटिंग विथ माय टंग.

उन्हें उठकर टेबल पर बैठा दिया. स्टील किसिंग ने माय हेंड इनसाइड कमीज़ किस करते करते में उनकी कमीज़ उतारने लग गया. ने धेट मेक हेर ली डाउन ओन ध टेबल.

में आपकी प्यारी सी गरदन को चूम लूँगा, इतना कह के मैं उनके नेक पर जोर जोर से चूमने लगा.

पिंकी;अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह… बस करो दीप.

में: आपके ये बड़े बड़े बूब्स. इनके लिए तो में कुछ भी लुटा दू.

आई स्टार्टेड रुब्बिंग धेम ब्रा के उपर से ही. धेट अनहूक हेर एंड स्टार्टेड सकिंग हेर नीपल्स. वन बाय वन. चूस चूस कर लाल कर दिए मेने. धेट इवन बिट धेम.

पिंकी” अह्ह्हह्ह्ह…जोर से दीप …. ईट धेम. रंडी बना दो मुझे.

में: आपकी ये स्वीट सी कमर. धेट किस हेर स्टमक ने लिक हेर नावेल.

पिंकी: स्सस्सस्स…..ओह्ह्ह्ह दीप, बहुत मजा आ रहा हैं.

आई धेन रिमूव हेर सलवार ने ग्रेब हेर गांड.

में: आपकी ये प्यारी सी मोटी सी गांड धेट प्रेस ईट हार्ड ने किस हेर पुसी पेंटी के उपर से.

पिंकी; ओह्ह्ह दीप, चुसो मेरी चूत को… सी प्रेसेस माय फेस अगेंस्ट हेर पुसी आई रिमूव हेर पेंटी ने किस हर चूत उसके बाद धेट स्टार्ट लिकिंग इट. वो जोर जोर से चिल्लाने लगी.

पिंकी: ओह दीप…. डीपर करो अपनी जबान को.. डाल दो अपनी जबान चूत की गहराई में… सटिसफाई में…. फ़क मी दीप फ़क मी.

आई स्टार्टेड फिंगरिंग हर, २ उंगलिया.. ने साथ ही अपनी जबान से धेट कीप लिकिंग हेर चूत.

पिंकी: ओह्ह्ह्ह ahhhhhhhhhhahhhhh……… फास्टर और तेज़…और उतने में उसकी चूत ने पानी निकाल दिया.

पिंकी: ओह दीप मज़ा आ गया…अब प्लीज् चोद बी दो मुझे.. क्या तडपा रहे हो… सी टेक्स आउट माय ७ लंड ने शेक्स ईट.

में: प्लीज् मुह में ले लो ना.

पिंकी: स्योर बेबी, ने वो अपने मुह में ले कर उसे चूसने लगती हे, बट उन्हे ब्लोजोब इतनी पसंद नहीं सो सी टेकस ईट आउट आफ्टर २ मिनट.

पिंकी: अब डाल दो इस लंड को मेरे अन्दर. फ़क में हार्ड दीप.

में उन्हें उल्टा करता हु …. अगेंस्ट थे टेबल ने अपने लंड उनकी चूत में डाल देता हूँ फ्रॉम बीहाईड ने स्टार्ट फकिंग हर….

पिंकी: ओह दीप…फाड़ दी मेरी चूत तुम्हारा लंड….फक मी दीप….डीपर फास्टर…जोर से दीप….जोर से….

मैं अपना लंड उसकी मस्त चूत में और भी जोर जोर से ठोकने लगा….और वो ऐसे ही मुझे उकसा के अपनी चूत मरवाती रही.

पिंकी: अह दीप…आई एम योर रंडी फकक्क्कक्क्क मी…!फक मीई अह्ह्ह्हह्ह्ह्… म्म्मम्म्म्मम्म…., ऊऊऊ. चोद दो मुझे….शांत कर दो इस चूत की आग… तुम्हारे लंड की दीवानी हो गई हूँ में… चोदो मुझे… जोर से….फ़क फ़क फ़क फ़क फ़क फ़क…….अह्ह्ह्ह अह्ह्हह्ह्हा ह्हह्हा ह्ह्ह्हह्ह्हह्ह अहहहा ह्हह्हा हह्ह्ह्ह. फकक्क्क्क, मीई… एंड धेन आधा घंटे की चुदाई की बाद वो झड़ गई ने में बी उनके अन्दर झड़ गया.

पिंकी मेडम मुझ से चुदाई करवा के बहुत ही खुश हुई. उसने मुझे कहा की वो चाहती हैं की मैं उसे हर हफ्ते कम से कम एकबार तो चोदु ही. मैंने कहा यह कैसे मुमकिन हैं. उसने कहा उसका इंजिनियर पति हर फ्राईडे को पूरा दारु पी के आता हैं. अगर मैं फ्राईडे को उसके घर जाऊं तो वो पूरी रात मेरे साथ निकाल सकती थी. मैंने फिर हर फ्राईडे को उसके घर में चुपके से जाने लगा. उसका पियक्कड़ पति बेड में सोया रहता और हम फर्श पर या सोफे के ऊपर ही सेक्स का खेल खेलते. पिंकी मेडम को मैंने पीरियड्स और प्रेग्नन्सी में भी चोदा हुआ हैं. मेडम ने मुझ से कितनी बार गांड भी मरवाई हैं और बूब्स भी चुद्वाए हैं…!